मंगलवार, 5 जुलाई 2011

'सूर्य-राशियों (Sun-Signs) की नई पद्धति'



आपकी राशि क्या है ? इस सवाल का जवाब देने से पहले जरा ठहरिए, क्योंकि पृथ्वी का अलाइनमेंट बदलने से सभी राशियों का समय भी बदल गया है। इसके अलावा अब नई पद्धति में राशियों(Sun Signs) की संख्या १२ के स्थान पर १३ राशियां हो गई हैं। यह शोध भले ही नया हो, लेकिन यह  परिवर्तन कई हजार वर्ष पहले ही आ चुका है, जो अब हमारे सामने नई शोध के रूप में आ पहुंचा है |शोधकर्ताओं का कहना है कि यह परिवर्तन अचानक रातोंरात नहीं आया है । विगत तीन हजार सालों से साल के अलग-अलग समय के लिए १२ राशियां तय थीं। इस दौरान तारे अपनी चाल बदल चुके हैं और लगातार सूर्य की परिक्रमा कर रही पृथ्वी की स्थिति भी बदल गई है। इसकी वजह से राशियां करीब एक महीने आगे बढ़ गई हैं। यही कारन है कि अधिकांश भविष्यवाणियां गलत साबित हो रही है |
अब तक हम अपने सूर्य राशियां(Sun Signs) देखते आ रहे थे, लेकिन चंद्रमा की ओर गुरुत्वाकर्षण बल बढ़ने के कारण सितारों की स्थितियां बदल गई हैं। अब चंद्र राशि को देख कर ही भविष्यवाणी सटीक बैठेगी | ऐसा होने से एक और नई राशि बन गई है, जिसका नाम ओफियूकस रखा गया है। यह राशि वृश्चिक के बाद और धनु के पहले आएगी और इस प्रकार राशियों की संख्या १३ बन गई है!

इस हिसाब से नई पद्धति आने के बाद अधिकांश लोगों की राशि बदल जाएगी और दुनिया के बड़े-बड़े ज्‍योतिषी इस पर चर्चा में जुट गए हैं। जानकारों का कहना है कि नई पद्धति में भले ही किसी शख्स की राशि बदल जाए पर जन्म कुंडली पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा | अब देखतें है कि आगे भविष्यवाणी कैसे की जा सकेगी!शोधकर्ता-ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि ओफियूकस राशि वाला व्यक्ति ईमानदार, बुद्धिजीवी, इर्ष्यालु और सेक्स अपील वाला होगा।
आप नीचे देखिए राशियों के क्रमांक
पर ध्यान दीजिए 
और जानिए, नई पद्धति लागू होने पर आपकी राशि क्या होगी--

मेष: १८ अप्रैल से १३ मई
वृषभ:१३ मई से २१ जून
मिथुन : २१ जून से २० जुलाई
कर्क : २० जुलाई से १० अगस्‍त
सिंह : १० अगस्‍त से १६सितंबर
कन्‍या : १६ सितंबर से ३० अक्‍तूबर
तुला : ३० अक्‍तूबर से २३ नवंबर
वृश्चिक : २३ नवंबर से २९ नवंबर
ओफियूकस : २९ नवंबर से १७ दिसंबर
धनु : १७ दिसंबर से २० जनवरी
मकर : २०जनवरी से १६ फरवरी
कुंभ: १६ फरवरी से ११ मार्च
मीन : ११ मार्च से १८ अप्रैल

'जय हिंद,जय हिंदी'

2 टिप्‍पणियां:

  1. पीयुष चतुर्वेदी5 जुलाई 2011 को 11:14 pm

    13 राशि वाली बात अभी हजम नहीं हुई है हमको.शायद शोध के बाद मन बदले!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. परमादरणीय गुरुदेव,
    इस हिसाब से नई पद्धति आने के बाद अधिकांश लोगों की राशि बदल जाएगी
    अप्रतिम-लेखन व अप्रतिम-विचार !!!!!!

    उत्तर देंहटाएं